केंद्रीय मंत्री के साथ अभद्रता के बाद टीएमसी सांसद शांतनु सेन पूरे सत्र के लिए निलंबित

संसद की कार्यवाही

संसद के मानसून सत्र का आज चौथा दिन है। दोनों ही सदनों में चौथे दिन भी जोरदार हंगामा हुआ। हंगामे की वजह से लोकसभा का कार्यवाही 26 जुलाई तक स्थगित कर दिया गया। साथ ही टीएमसी सांसद शांतनु सेन को पूरे सत्र के लिए निलंबित कर दिया गया।

जासूसी कांड को लेकर पिछले 4 दिनों से लोकसभा में हंगामा हो रहा है। हंगामे की वजह से रोज ही संसद की कार्यवाही में बाधा पहुंची है। शांतनु सेन पर निलंबन की कार्रवाई के बाद केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने विपक्षी दलों की बैठक बुलाई है।

इससे पहले लोकसभा की कार्यवाही शुरू होते ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा कि वैक्सीनेशन को लेकर हम लोगों का साथ मिलकर काम करना चाहिए। टीकाकरण को लेकर जो भ्रम फैला रहे हैं उन्हें भी समझाने की जरूरत है। उनके बयान पर विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया। इसके बाद लोकसभा 12 बजे के लिए स्थगित कर दी गई।

आज संसद के दोनों सदनों में 11 बजे कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष ने जमकर हंगामा किया। विपक्षी दलों ने कथित जासूसी कांड पर दोनों सदनों में सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। इसके बाद राज्यसभा और लोकसभा की कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई।

सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में न्यायिक जांच की मांग

उधर लोकसभा और राज्यसभा के कई कांग्रेस सदस्यों ने संसद परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने प्रदर्शन किया। विरोध प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस सांसदों ने कथित तौर पर जासूसी मामले की न्यायिक जांच सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में कराने की मांग की। कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी और कांग्रेस के कई अन्य सांसद इस मौके पर मौजूद थे।