काली पट्टी बांध आयोग से मिले TMC सांसद, बीजेपी ने बताया – पब्लिक स्टंट

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमले की शिकायत

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर नंदीग्राम में हुए कथित हमले की शिकायत करने के लिए 6 टीएमसी सांसद शुक्रवार को चुनाव आयोग गए। सांसदों ने इस दौरान काली पट्टी बांधकर विरोध जताया और चुनाव आयोग से कार्रवाई करने की अपील की।

टीएमसी नेता सौगत रॉय के साथ दिल्ली आए 6 सांसदों ने कहा कि हमने 1 घंटा 10 मिनट तक चुनाव आयोग से बातचीत की। हमारा मुद्दा नंदीग्राम में ममता बनर्जी पर हुए हमले की कार्रवाई कराना है। हमने आयोग को बताया कि यह कोई दुर्घटना नहीं थी, बल्कि उन्हें जानबूझकर चोट पहुंचाई गई है।

वहीं इस मामले में हादसे के वक्त छात्र सुमन मैती ने कहा कि जब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी यहां पहुंचीं, तब उनको देखने के लिए भीड़ जमा हो गई और लोग उन्हें घेरकर खड़े हो गए। इस दौरान उन्हें गर्दन और पैर पर चोट लगी। किसी ने उन्हें धक्का नहीं दिया। उनकी कार धीरे-धीरे चल रही थी।

बीजेपी नेता अर्जुन सिंह ने कहा कि इस स्टंट के जरिए ममता सहानुभूति पैदा करने की कोशिश कर रही हैं। वहीं अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि ममता ने चुनावी मुश्किलों को भांपते हुए इस पब्लिक स्टंट की योजना बनाई है।

बता दें कि बुधवार को ममता बनर्जी ने नंदीग्राम सीट पर नामांकन दाखिल करने के बाद खुद पर हमला होने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि मंदिर से लौटते वक्त 4 से 5 लोगों ने कार के दरवाजे को धक्का दिया। इस हादसे में उनका पैर कार के दरवाजे में फंस गया। जिसके बाद उन्हें चोट लग गई।

सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि यह हादसा नहीं बल्कि एक साजिश है। उन्होंने आरोप लगाया कि उस वक्त मेरे साथ प्रशासन का कोई व्यक्ति मौजूद नहीं था।