केयर्न मामले में मीडिया में आ रही कुछ खबरें गलत और भ्रामक: वित्‍त मंत्रालय

केंद्रीय वित्‍त मंत्रालय

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने केयर्न मामले में मीडिया में आ रही कुछ खबरों को गलत और तथ्‍यों से परे बताते हुए इसकी आलोचना की है। सरकार ने कहा है कि कुछ निहित स्‍वार्थ की वजह से इसकी गलत रिपोर्टिंग की जा रही है।

केंद्रीय वित्‍त मंत्रालय ने रविवार को ट्विटर के जरिए एक बयान जारी कर केयर्न मामले में मीडिया रिपोर्टिंग को गलत और तथ्‍यों से परे बताया है। मंत्रालय के मुताबिक इन खबरों में यह दावा किया गया है कि भारत सरकार ने सरकारी बैंकों को विदेश में अपने विदेशी मुद्रा खातों में रखा पैसा निकालने को कहा है, क्‍योंकि केयर्न मामले में चल रही कानूनी प्रक्रिया के तहत यह पैसा जब्त किया जा सकता है।

केयर्न मामले में मीडिया में चल रही खबरों को लेकर वित्‍त मंत्रालय ने विज्ञप्ति जारी कर कहा कि ऐसी खबरें पूरी तरह से गलत और तथ्‍यों से परे हैं। कुछ पक्ष निहित स्वार्थ की वजह से इस तरह की गलत और भ्रामक खबरें दे रहे हैं, जिसमें सूत्र की पहचान नहीं होती और कानूनी तथ्यों को सही तरीके से पेश नहीं किया जाता है।

उल्‍लेखनीय है कि अंतरराष्‍ट्रीय कोर्ट ने भारत सरकार और केयर्न के बीच कानूनी विवाद में फैसला केयर्न के पक्ष में दिया था। इस फैसले में सरकार को केयर्न एनर्जी को 1.2 अरब डॉलर की राशि चुकाने का आदेश दिया था। हालांकि, इस मामले में कानूनी प्रक्रिया के तहत कोर्ट के फैसले को रद्द करने के लिए सरकार ने 22 मार्च को याचिका दाखिल की है। इस बीच केयर्न के सीनियर अफसरों ने इस मामलें के निपटारे के लिए सरकार से संपर्क साधा है।