संसद के मानसून सत्र में शामिल होने छाता लेकर पहुंचे पीएम मोदी, विपक्ष पर साधा निशाना

संसद परिसर में पीएम मोदी

संसद का मानसून सत्र आज से शुरू हो चुका है। यह 13 अगस्त तक चलेगा। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संसद के मानसून सत्र में शामिल होने के लिए छाता लेकर संसद भवन पहुंचे। इस दौरान उन्होंने पत्रकारों से बात किया।

संसद में पीएम मोदी ने नए मंत्रियों का परिचय कराया। साथ ही विपक्ष पर तंज कसते हुए कहा कि आज बड़ी संख्या में महिलाएं, दलित और आदिवासी नेता मंत्री बने हैं। बड़ी संख्या में किसान और ग्रामीण परिवारों से आने वाले लोगों को भी मंत्री बनने का मौका मिला है। इस पर सभी को खुशी होनी चाहिए थी। लेकिन कुछ लोगों को दलितों, महिलाओं और पिछड़ों का मंत्री बनना रास नहीं आता है।

पीएम ने कहा, ‘मैं सोच रहा था कि आज सदन में उत्साह का वातावरण होगा क्योंकि बहुत बड़ी संख्या में हमारी महिला सांसद, दलित भाई, ​आदिवासी, किसान परिवार से सांसदों को मंत्री परिषद में मौका मिला। उनका परिचय करने का आनंद होता लेकिन शायद देश के दलित, महिला, ओबीसी,​ किसानों के बेटे मंत्री बनें ये बात कुछ लोगों को रास नहीं आती है। इसलिए उनका परिचय तक नहीं होने देते।’

संसद के मानसून सत्र के पहले ही दिन विपक्ष ने जासूसी कांड, महंगाई और अन्य मुद्दों को लेकर हंगामा किया। विपक्ष ने इतना हंगामा किया कि पीएम मोदी बीच में ही रुक गए और उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधते हुए यह कहा कि विपक्षी पार्टियां दलितों, महिलाओं और पिछड़ों को मंत्री नहीं देखना चाहतीं। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने भी हंगामे को लेकर विपक्ष से नाखुशी जाहिर की और कहा कि यह परंपरा ठीक नहीं है।