राजनाधी पटना और आसपास के इलाकों में भूकंप के झटके, लोग घरों से बाहर निकले

Panic in Bihar due to earthquake

पटना। बिहार की राजधानी पटना में सोमवार रात को भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए। भूकंप आने की खबर लगते ही लोग अपने-अपने घरों से बाहर निकलकर भागे। भूकंप दक्षिण बिहार के अधिकांश जिलों में भी महसूस किया गया। मौसम विज्ञान केंद्र पटना के अनुसार, भूकंप सोमवार की रात 9 बजकर 23 मिनट पर आया।

पटना और आसपास के जिलों में आए भूकम्प की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 3.5 मापी गई। इसका केंद्र नालंदा से उत्तर-पश्चिम में 5 किलोमीटर की गहराई में स्थित था। भूकंप से पटना की धरती लगभग 2 से 3 सकेंड तक डोलता रहा।

मौसम विज्ञान केंद्र पटना के अनुसार नालंदा से 20 किमी उत्तर और पश्चिम की ओर पटना जिले में इसका केंद्र था। बता दें कि इससे पहले अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में भी सोमवार की रात 7 बजकर 24 मिनट पर रिक्टर पैमाने पर 4.2 तीव्रता का भूकंप आया था।
पटना में आफ्टर शॉक के डर से लोग काफी देर तक घरों के बाहर रहे। बेली रोड पर बसे मोहल्लों के लोग भी घरों से बाहर टहलते दिखे। हालांकि बाजारों में खरीदारी पर इसका कोई असर नहीं पड़ा। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक विवेक सिन्हा ने कहा कि पटना सहित लगभग पूरे सूबे में भूकंप के झटके महसूस किए गए। इसका केंद्र पटना के आसपास था।
भूकंप के बाद बिहार की राजधानी पटना के सचिवालय कॉलोनी के समीप जलेश्वर मंदिर पथ में जगह-जगह लोगों का जमावड़ा लग गया। जलेश्वर मंदिर पथ के अलावा कांटी फैक्ट्री रोड, पटना के कंकड़बाग मैन रोड, काली मंदिर रोड, हनुमान नगर में भी 9:20 से करीब 10:00 बजे तक लोगों के अंदर भूकंप को लेकर दहशत दिखी।