कोरोना के खिलाफ भारत को मिला तीसरा हथियार, रूसी वैक्सीन स्पूतनिक V पहुंचा भारत

स्पूतनिक वी पहुंचा भारत

नई दिल्ली। रूसी वैक्सीन स्पूतनिक वी की पहली खेप भारत पहुंच चुका है। कोरोना वायरस के खिलाफ अब भारत को तीसरा हथियार मिल गया है। शनिवार को 1.5 लाख स्पूतनिक वी का डोज लेकर रूसी विमान भारत के हैदराबाद में लैंड किया।

बता दें कि भारत में 18 साल से ऊपर के सभी लोगों के लिए वैक्सीनेशन की शुरुआत 1 मई से हो गई है। स्पूतनिक वी के आने से वैक्सीनेशन के इस अभियान में और तेजी आएगी। हाल ही में केंद्र सरकार ने रूसी वैक्सीन स्पूतनिक वी को आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी दी थी।

भारत में पहले से ही सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड वैक्सीन और भारत बायोटेक की कौवैक्सीन उपलब्ध है। अभी तक भारत में इन्हीं दो वैक्सीन से वैक्सीनेशन का कार्य हो रहा था। स्पूतनिक वी के आने से इस कार्य में और तेजी आएगी।

हाल ही में भारतीय वैक्सीन ‘कोवैक्सीन’ अमेरिकी विशेषज्ञों ने बेहद कारगर माना था। विशेषज्ञों का कहना था कि कोवैक्सीन कोरोना के 600 से भी ज्यादा वेरिएंट में असरदार है।