यूपी के पूर्व मंत्री यशपाल चौधरी का कोरोना से निधन, दिल्ली में चल रहा था इलाज

यशपाल चौधरी का निधन

धौरहरा से समाजवादी पार्टी के पूर्व राज्य मंत्री रहे कद्दावर नेता यशपाल चौधरी की सोमवार की रात हार्ट अटैक से लखनऊ के एक अस्पताल में मौत हो गई। वह कोरोना से संक्रमित भी हुए थे। हालांकि कुछ दिन चले इलाज के दौरान रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी थी। सपा के कद्दावर नेताओ में गिने जाने वाले यशपाल चौधरी की आकस्मिक मौत के बाद पूरे धौरहरा क्षेत्र में शोक की लहर है।

यशपाल चौधरी धौरहरा क्षेत्र से दो बार 1993 और 2002 में विधायक रहे थे। सन 2003 में यूपी के लघु सिंचाई राज्य मंत्री रहे। उन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में काफी कार्य किया। पंडित तेज नारायण त्रिवेदी के संपर्क में आने के बाद यशपाल चौधरी राजनीति के क्षेत्र में आए थे।

कुछ दिन पहले कोरोना से संक्रमित होने के बाद उन्हें लखनऊ के विभूति खंड के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वे कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर घर भी आ गए थे। लेकिन सोमवार देर रात उनके सीने में दर्द महसूस हुआ और फिर उन्हें इलाज के लिए विभूति खंड के ही एक निजी अस्पताल में ले जाया गया जहां हार्ट अटैक से उनका निधन हो गया।

समाजवादी पार्टी ने यशपाल चौधरी के निधन पर दुख प्रकट किया है। पार्टी ने लिखा, “समाजवादी पार्टी के संस्थापक सदस्य, वरिष्ठ नेता, धौरहरा विधानसभा क्षेत्र से पूर्व विधायक, पूर्व मंत्री यशपाल चौधरी जी का निधन अत्यंत हृदय विदारक और एक अपूरणीय क्षति है। ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करे। शोक संतप्त परिवार के प्रति गहन संवेदना।”