अमित शाह ने ममता सरकार पर नमामी गंगे कार्यक्रम को लेकर लगाए गंभीर आरोप, जानें क्या कहा

नमामी गंगे कार्यक्रम

कोलकाता। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह गुरुवार को पश्चिम बंगाल के 24 परगना जिले में एक रैली को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने ममता सरकार पर जमकर निशाना साधा। बीच-बीच में अमित शाह पर पुष्प बर्षा भी की गई।

अमित शाह ने ममता सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि बंगाल में जो राजनीतिक हिंसा होती है, उसमें 130 भाजपा कार्यकर्ता मारे गए। ममता दीदी सोचती हैं कि किसी को मार देने से भाजपा रुक जाएगी। मैं उनसे कहना चाहता हूं कि ममता दीदी तृणमूल के गुंडों ने हमारे 130 कार्यकर्ताओं को मारा है। उनकी शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी। बंगाल की धरती पर ताकत के साथ कमल खिलने वाला है।

अमित शाह ने कहा कि जो गुंडे ममता दीदी की शह पर आज छिपकर बैठे हैं, उनको मैं कहना चाहता हूं कि जहां छिपना है छिप जाओ। भाजपा की सरकार बनने के बाद पाताल से भी ढूंढकर जेल में डालेंगे।

रैली में अमित शाह ने लोगों से पूछा कि आप लोग बताओ इनको बदलने का काम करोगे कि नहीं करोगे। बंगाल में जंगल के लोगों के जीवन में परिवर्तन हो इसलिए ये परिवर्तन यात्रा लाए हैं। किसानों को सही दाम मिले, कोई बिचौलिया न हो, इसलिए परिवर्तन कहते हैं।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने ममता बनर्जी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि गंगोत्री से गंगासागर तक नमामीगंगे कार्यक्रम चला। लेकिन वो बंगाल आकर रुक गई। उन्होंने कहा कि बीजेपी की सरकार बनेगी तो नमामीगंगे कार्यक्रम यहां भी चलेगा। यहां की स्थिति देखकर दुख होता है। तय करेंगे कि यहां सरकार बनने के बाद केंद्र की सभी योजनाओं का लाभ मिले।