यूपी: गोंडा में तीन दलित बहनों पर एसिड अटैक से हड़कंप, एक का चेहरा झुलसा ,गांव में युवक ने फेंका तेजाब

यूपी के गोंडा जिले में तीन बहनों पर एसिड अटैक की बड़ी घटना सामने आई है। बताया जा रहा है कि सोते समय तीन बहनों पर एक युवक ने तेजाब फेंक दिया। गोंडा पुलिस वारदात की तफ्तीश में जुटी है। मामला परसपुर थाना क्षेत्र के पक्का गांव का है। यहां अनुसूचित जाति (दलित) की तीन बहनों पर एक दबंग युवक ने तेजाब फेंक दिया। एसिड अटैक में बड़ी बहन गंभीर रूप से झुलस गई। वहीं बाकी दो छोटी बहनों पर भी तेजाब के छींटे पड़े। आनन-फानन में तीनों बहनों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया । यहां पर बड़ी बहन का इलाज किया जा रहा है। एसिड अटैक में उसका चेहरा झुलस गया है। बाकी दो बहनों को अस्पताल में प्राथमिक उपचार दिया गया। बताया जा रहा है कि तीनों जब घर में सोई थी, तब उनके ऊपर एसिड फेंका गया है. दो बहनें मामूली रूप से घायल हैं, जबकि एक बहन के चेहरे पर एसिड पड़ा है. हालांकि, एसिड फेंकने का कारण अज्ञात है.

घटना गोंडा के परसपुर थाना अंतर्गत पसका परसपुर की है. गोंडा के पुलिस अधीक्षक (एसपी) शैलेश कुमार पांडे का कहना है कि तीन लड़कियों पर केमिकल से अटैक किया गया है और केमिकल की जांच की जा रही है. घटनास्थल पर फोरेंसिक टीम पहुंच गई है. पुलिस की जांच जारी है.

पीड़ित पिता का कहना है कि घटना के बाद उन्हें लगा कि शायद सिलिंडर की आग में बेटियां झुलस गई हैं। लेकिन बाद में पता चला कि किसी अज्ञात शख्स ने तेजाब से हमला किया है। पिता का कहना है, ‘जब तेजाब पड़ा तो बेटी चिल्लाई। आवाज सुनकर मैंने दरवाजा खोला। बेटी को गोद में लिया और पूछा कि क्या सिलिंडर से आग लग गई है तो उसने कहा नहीं। घटना के वक्त मैं सो रहा था। एक बेटी 17 साल की है, एक 12 और एक 8 साल की है।’ पीड़ित पिता का कहना है कि उन्हें किसी पर शक नहीं है। आज तक गांव में किसी से रंजिश नहीं रही है।