फीस बढ़ोतरी के विरोध में जेएनयू छात्रों का संसद तक मार्च, स्टूडेंट अध्यक्ष हिरासत में

नई दिल्ली। फीस बढ़ोतरी को लेकर संसद भवन तक जेएनयू छात्रों ने विरोध प्रदर्शन किया। छात्र संसद तक मार्च कर रहे थे। हालांकि पुलिस ने छात्रों को कैंपस के पास ही रोक लिया। वहीं जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष ऐशी घोष को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। पुलिस ने विश्वविद्यालय के बाहर एक बैनर लगाया है जिसमें कहा गया है कि नियम का उल्लंघन करने वालों पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

इससे पहले रविवार को जेएनयूएसयू ने अन्य विश्वविद्यालयों के लोगों का मार्च के लिए आह्वान किया और कहा कि देश में शुल्क वृद्धि अधिक पैमाने पर हो रही है, समग्र शिक्षा के लिए छात्र आगे आए हैं। जेएनयू के कुलपति जगदीश कुमार ने विरोध कर रहे छात्रों से अपील की थी कि वे अपनी कक्षाओं में लौट आएं, क्योंकि परीक्षाएं नजदीक हैं।

कुलपति ने कहा कि अगर हम अभी भी हड़ताल पर अड़े रहे तो हजारों छात्रों के भविष्य पर असर पड़ेगा। उन्होंने कहा कि मैं छात्रों से अपील करता हूं कि वे कक्षाओं में वापस आएं और रिसर्च कार्यों को आगे बढ़ाएं। 2 दिसंबर से सेमेस्टर परीक्षाएं शुरू होंगी और अगर आप कक्षाओं में नहीं जाएंगे तो इससे आपके भविष्य के लक्ष्य प्रभावित होंगे।

बता दें कि दिल्ली पुलिस ने मार्च के मार्ग के आसपास सुरक्षा के पर्याप्त प्रबंध करने के साथ ही शीत कालीन सत्र को देखते हुए संसद मार्ग पर कड़ी सुरक्षा के इंतजाम किए हैं।