कोरोना ने जिनको बनाया अनाथ, उनके सर पर रहेगा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का हाथ

लखनऊ, उत्तर प्रदेश में कोई अनाथ नहीं रहेगा। कोविड-19 ने जिनको भी अनाथ बनाकर छोड़ दिया है, उन बच्चों के सर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का हाथ रहेगा। बच्चों की पूरी जिम्मेदारी योगी सरकार लेने जा रही है।बुधवार को टीम-09 के साथ कोविड प्रबंधन की तैयारियों को लेकर आयोजित बैठक में यह फैसला मुख्यमंत्री योगी ने लिया है। इस मामले में शीघ्र रिपोर्ट की मांग की।

कोरोना ने केवल जानें नहीं लीं, उसने जिंदगियां बर्बाद की है। माता-पिता के जान गंवाने के बाद बहुत से बच्चे अनाथ हुए हैं। उनकी खैर लेने वाला कोई नहीं है। ऐसी शिकायतों के आने के बाद योगी सरकार ने संवेदनाशीलता दिखाते हुए यह महत्वपूर्ण फैसला लिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अनाथ अथवा निराश्रित हुए बच्चे राज्य की सम्पत्ति होंगे। उनके भरण-पोषण का खर्च सरकार उठाएगी। उन्होंने महिला एवं बाल विकास विभाग इस सम्बंध में तत्काल कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिए।

बता दें कि पिछले 24 घंटे में 07 हजार 336 नए कोरोना केस सामने आए हैं। वहीं, रिकवरी रेट 91.4 फीसदी हो गई है। 19 हजार 669 लोगों को डिस्चार्ज किया गया। यहां सक्रिय मामलों की कुल संख्या 1 लाख 23 हजार 579 है। अब तक कुल 15 लाश 02 हजार 918 लोग ठीक हो चुके हैं।